एक ‘अर्थशास्त्री’ PM ने देश की अर्थव्यवस्था को केवल एक पायदान ऊपर उठाया, लेकिन एक ‘चायवाले’ ने 5वें पर पहुंचा दिया : मोदी

गुजरात में पहले चरण के मतदान में महज दो दिन बाकी हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को एक बार फिर ताबड़तोड़ रैलियां कीं। पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और उस पर वोट बैंक की राजनीति के कारण सत्ता में रहने के दौरान सशस्त्र बलों को आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने से रोकने का आरोप लगाया। पीएम मोदी ने यूपीए शासन के 10 वर्षों में अर्थव्यवस्था की धीमी गति को लेकर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह पर भी निशाना साधा।

राजकोट में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने अपने प्रदर्शन की तुलना पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के दस साल के कार्यकाल से की। पीएम मोदी ने कहा कि एक प्रसिद्ध अर्थशास्त्री के 10 साल तक प्रधानमंत्री रहने के बावजूद देश की अर्थव्यवस्था केवल एक पायदान चढ़कर दसवें स्थान पर पहुंची, लेकिन एक चायवाले के नेतृत्व वाली सरकार ने पिछले आठ वर्षों में देश की अर्थव्यवस्था को विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बना दी।

पीएम मोदी ने कहा कि 2014 में मेरे प्रधानमंत्री का पद संभालने से पहले कांग्रेस 10 वर्षों तक सत्ता में रही थी। जब कांग्रेस 2004 में सत्ता में आई थी, तो एक प्रसिद्ध अर्थशास्त्री (मनमोहन सिंह) हमारे प्रधानमंत्री थे और भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में 11 वें स्थान पर थी। बाद के वर्षों में, हालांकि उन्होंने जो कुछ भी किया, भारतीय अर्थव्यवस्था दसवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गई। यानी भारत को 11वें नंबर से 10वें नंबर तक पहुंचने में दस साल लग गए।

पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने कभी अर्थशास्त्री होने का दावा नहीं किया, लेकिन उन्हें देश के नागरिकों की ताकत पर भरोसा है। उन्होंने कहा कि “आपने 2014 में एक ‘चायवाले’ को देश की बागडोर सौंपी। मैंने कभी दावा नहीं किया कि मैं एक अर्थशास्त्री हूं। लेकिन मुझे नागरिकों की ताकत पर भरोसा है। पिछले आठ वर्षों में भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गई, जो 2014 से पहले 10वें स्थान पर थी। एक दिसंबर को पहले चरण के लिए होने वाले मतदान से पहले राजकोट में यह उनकी आखिरी रैली थी।