Wed. Oct 27th, 2021

समीक्षात्मक बैठक में बोलें मंत्री मुकेश सहनी- SKMCH परिसर में बन रहे ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण हर हाल में 15 दिन के अंदर पूरा किया जाए

समीक्षात्मक बैठक में बोलें मंत्री मुकेश सहनी- SKMCH परिसर में बन रहे ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण हर हाल में 15 दिन के अंदर पूरा किया जाए

समाहरणालय मुजफ्फरपुर

योजनाओं के क्रियान्वयन में गंभीरता बरतें एवं इसमें पूरी पारदर्शिता परिलक्षित हो ताकि समाज का अंतिम व्यक्ति इससे लाभान्वित हो सके
आम जनता कि शिकायतों का निपटारा स-समय किया जाय ताकि उन्हें परेशानी का सामना न करना पड़े।

विभिन्न विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य करते हुए योजनाओं के क्रियान्वयन की दिशा में प्रभावी कार्य करना सुनिश्चित करें।

योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी

एसकेएमसीएच परिसर में बन रहे ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण हर हाल में 15 दिन के अंदर पूरा किया जाए। निर्माण में विलंब पर सम्बन्धित पर जिम्मेदारी तय की जाएगी।

उक्त बात माननीय मंत्री पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग बिहार-सह- प्रभारी मंत्री मुजफ्फरपुर मुकेश सहनी ने समाहरणालय सभाकक्ष में विभिन्न विभागों की समीक्षात्मक बैठक में कही।

आपूर्ति विभाग की समीक्षा के क्रम में उठाव किये गए तेल की मात्रा एवं वितरित तेल की मात्रा, नई अनुज्ञप्ति निर्गमन की स्थिति की समीक्षा की गई। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत खाद्यान्न का आवंटन ,उठाव एवं वितरण से संबंधित समीक्षा की गई। समीक्षा के क्रम में माननीय मंत्री ने कहा कि इस संबंध में प्राप्त हो रहे हैं शिकायतों के निवारण की दिशा में ठोस कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

जिला पंचायती राज की भी समीक्षा की गई।जिला पंचायती राज पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि नल जल स्किम के तहत जिले में कुल लक्षित वार्ड 4585 के विरूद्ध 4556 वार्डो में कार्य पूर्ण कर लिया गया है जो कि कुल का 99.4 प्रतिशत है। 29 वार्डो में कार्य चल रहा है। माननीय मंत्री ने निर्देश दिया कि समय-समय पर चल रहे कार्य का निरीक्षण करना भी सुनिश्चित करें। वहीं गली- नाली योजना के तहत 100% की उपलब्धि बताई गई।

कृषि विभाग की समीक्षा के क्रम में जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि खरीफ- 2021 में फसल आच्छादन का कुल लक्ष्य 149890 हेक्टेयर के विरुद्ध 103526 हेक्टेयर की उपलब्धि है जो कि 69% है।उनके द्वारा फसल आच्छादन का लक्ष्य /उपलब्धि का प्रखंड वार ब्यौरा भी उपलब्ध कराया गया। कृषि विभाग के अंतर्गत चल रही विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की गई। निर्देश दिया गया कि योजनाओं के क्रियान्वयन में पूरी पारदर्शिता बरती जाए ताकि किसानों को इसका शत-प्रतिशत लाभ मिल सके।

मनरेगा की समीक्षा के क्रम में विभाग के द्वारा जानकारी दी गई की वित्तीय वर्ष 2021-22 में 112534 व्यक्तियों को काम उपलब्ध कराया गया जबकि 22517 व्यक्तियों को जॉब कार्ड निर्गत किया गया। मनरेगा अंतर्गत मजदूरी मद में कुल व्यय, प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण ,जिला स्तर पर मजदूरों का स-समय भुगतान वृक्षारोपण कीअद्यतन स्थिति, जिला जल एवं स्वच्छता के अंतर्गत सामुदायिक शौचालय /शौचालय निर्माण की समीक्षा की गई साथ ही जल- जीवन -हरियाली की भी समीक्षा की गई। माननीय मंत्री ने कहा कि जल- जीवन -हरियाली अभियान एक महत्वकांक्षी अभियान है। इसके अंतर्गत जितने भी अवयव हैं ,इन अवयवों में निर्धारित लक्ष्य के विरुद्ध शत-प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त करने की दिशा में प्रभावी कार्य करना सुनिश्चित की जाए।

बैठक में कोविड-19 की दूसरी लहर के समय स्वास्थ विभाग द्वारा किए गए विभिन्न कार्य , कोविड-19 जांच, चिकित्सा व्यवस्था एवं प्रबंधन, पॉजिटिव मरीजों की अद्यतन स्थिति, ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण इत्यादि की समीक्षा की गई।एसकेएमसीएच परिसर में बन रहे ऑक्सीजन प्लांट में अप्रत्याशित विलंब पर उन्होंने नाराजगी प्रकट करते हुए निर्देश दिया कि 15 दिन के अंदर कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें।यदि ऐसा नहीं होता है तो संबंधित पर जिम्मेदारी तय की जाएगी।

बैठक में इसके अतिरिक्त शिक्षा विभाग, मत्स्य विभाग, पशुपालन विभाग, कल्याण विभाग ,आईसीडीएस इत्यादि की भी समीक्षा की गई एवं महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए।

बैठक में अपर समाहर्ता -राजस्व राजेश कुमार, अपर समाहर्ता आपदा डॉ अजय कुमार, प्रभारी उप विकास आयुक्त चंदन चौहान,सिविल सर्जन, जिला पंचायती राज पदाधिकारी ,जिला आपूर्ति अधिकारी ,डीसीएलआर पूर्वी एवं पश्चिमी ,जिला जनसंपर्क अधिकारी ,डीपीओ आईसीडीएस चांदनी सिंह,जिला शिक्षा पदाधिकारी, के साथ विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

योजनाओं के क्रियान्वयन में गंभीरता बरतें एवं इसमें पूरी पारदर्शिता परिलक्षित हो ताकि समाज का अंतिम व्यक्ति इससे लाभान्वित हो सके
आम जनता कि शिकायतों का निपटारा स-समय किया जाय ताकि उन्हें परेशानी का सामना न करना पड़े।

विभिन्न विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य करते हुए योजनाओं के क्रियान्वयन की दिशा में प्रभावी कार्य करना सुनिश्चित करें।

योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी

एसकेएमसीएच परिसर में बन रहे ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण हर हाल में 15 दिन के अंदर पूरा किया जाए। निर्माण में विलंब पर सम्बन्धित पर जिम्मेदारी तय की जाएगी।

उक्त बात माननीय मंत्री पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग बिहार-सह- प्रभारी मंत्री मुजफ्फरपुर मुकेश सहनी ने समाहरणालय सभाकक्ष में विभिन्न विभागों की समीक्षात्मक बैठक में कही।

आपूर्ति विभाग की समीक्षा के क्रम में उठाव किये गए तेल की मात्रा एवं वितरित तेल की मात्रा, नई अनुज्ञप्ति निर्गमन की स्थिति की समीक्षा की गई। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत खाद्यान्न का आवंटन ,उठाव एवं वितरण से संबंधित समीक्षा की गई। समीक्षा के क्रम में माननीय मंत्री ने कहा कि इस संबंध में प्राप्त हो रहे हैं शिकायतों के निवारण की दिशा में ठोस कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

जिला पंचायती राज की भी समीक्षा की गई।जिला पंचायती राज पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि नल जल स्किम के तहत जिले में कुल लक्षित वार्ड 4585 के विरूद्ध 4556 वार्डो में कार्य पूर्ण कर लिया गया है जो कि कुल का 99.4 प्रतिशत है। 29 वार्डो में कार्य चल रहा है। माननीय मंत्री ने निर्देश दिया कि समय-समय पर चल रहे कार्य का निरीक्षण करना भी सुनिश्चित करें। वहीं गली- नाली योजना के तहत 100% की उपलब्धि बताई गई।

कृषि विभाग की समीक्षा के क्रम में जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि खरीफ- 2021 में फसल आच्छादन का कुल लक्ष्य 149890 हेक्टेयर के विरुद्ध 103526 हेक्टेयर की उपलब्धि है जो कि 69% है।उनके द्वारा फसल आच्छादन का लक्ष्य /उपलब्धि का प्रखंड वार ब्यौरा भी उपलब्ध कराया गया। कृषि विभाग के अंतर्गत चल रही विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की गई। निर्देश दिया गया कि योजनाओं के क्रियान्वयन में पूरी पारदर्शिता बरती जाए ताकि किसानों को इसका शत-प्रतिशत लाभ मिल सके।

मनरेगा की समीक्षा के क्रम में विभाग के द्वारा जानकारी दी गई की वित्तीय वर्ष 2021-22 में 112534 व्यक्तियों को काम उपलब्ध कराया गया जबकि 22517 व्यक्तियों को जॉब कार्ड निर्गत किया गया। मनरेगा अंतर्गत मजदूरी मद में कुल व्यय, प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण ,जिला स्तर पर मजदूरों का स-समय भुगतान वृक्षारोपण कीअद्यतन स्थिति, जिला जल एवं स्वच्छता के अंतर्गत सामुदायिक शौचालय /शौचालय निर्माण की समीक्षा की गई साथ ही जल- जीवन -हरियाली की भी समीक्षा की गई। माननीय मंत्री ने कहा कि जल- जीवन -हरियाली अभियान एक महत्वकांक्षी अभियान है। इसके अंतर्गत जितने भी अवयव हैं ,इन अवयवों में निर्धारित लक्ष्य के विरुद्ध शत-प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त करने की दिशा में प्रभावी कार्य करना सुनिश्चित की जाए।

बैठक में कोविड-19 की दूसरी लहर के समय स्वास्थ विभाग द्वारा किए गए विभिन्न कार्य , कोविड-19 जांच, चिकित्सा व्यवस्था एवं प्रबंधन, पॉजिटिव मरीजों की अद्यतन स्थिति, ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण इत्यादि की समीक्षा की गई।एसकेएमसीएच परिसर में बन रहे ऑक्सीजन प्लांट में अप्रत्याशित विलंब पर उन्होंने नाराजगी प्रकट करते हुए निर्देश दिया कि 15 दिन के अंदर कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें।यदि ऐसा नहीं होता है तो संबंधित पर जिम्मेदारी तय की जाएगी।

बैठक में इसके अतिरिक्त शिक्षा विभाग, मत्स्य विभाग, पशुपालन विभाग, कल्याण विभाग ,आईसीडीएस इत्यादि की भी समीक्षा की गई एवं महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए।

बैठक में अपर समाहर्ता -राजस्व राजेश कुमार, अपर समाहर्ता आपदा डॉ अजय कुमार, प्रभारी उप विकास आयुक्त चंदन चौहान,सिविल सर्जन, जिला पंचायती राज पदाधिकारी ,जिला आपूर्ति अधिकारी ,डीसीएलआर पूर्वी एवं पश्चिमी ,जिला जनसंपर्क अधिकारी ,डीपीओ आईसीडीएस चांदनी सिंह,जिला शिक्षा पदाधिकारी, के साथ विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *