सेंट्रल जेल में कैदी की मौत:फर्जीवाड़ा और मारपीट के आरोप में बंद कैदी की इलाज के दौरान मौत; हेपेटाइटिस B के लक्षण थे

सेंट्रल जेल में कैदी की मौत:फर्जीवाड़ा और मारपीट के आरोप में बंद कैदी की इलाज के दौरान मौत; हेपेटाइटिस B के लक्षण थे

नुजहत जहां
मुजफ्फरपुर

फर्जीवाड़ा और मार’पी’ट के आरो’प में मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल में बंद विचाराधीन कैदी की इलाज के दौरान मौत हो गई। मृत”क सुनील कुमार साह (78) टाउन थाना क्षेत्र के सोडा गोदाम चौक का रहने वाला था। जेलर सुनील कुमार मौर्य ने बताया कि प्रारम्भिक तौर पर पता लगा कि उसे हेपेटाइटिस B के लक्षण थे, लेकिन इसका खुलासा पोस्टमाॅर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही होगी। जेल अधीक्षक राजीव कुमार सिंह ने कहा कि सुनील की मौ’त की न्यायिक दंडाधिकारी की मौजूदगी में न्यायिक जांच कराई जाएगी।

सुनील के खिलाफ अहियापुर थाना में आमगोला के मनोज कुमार गोयल ने फर्जीवाड़ा कर उनकी निजी जमीन धोखे से बेच लेने का आरोप लगाते हुए FIR दर्ज कराई थी। मारपीट की बात भी कही थी। सुनील के अलावा अन्य तीन लोगों को आरोपित बनाया था। इसी मामले में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

16 फरवरी को उसे बेनीबाद उपकारा में भेजा गया था। क्वारंटाइन अवधि पूरा करने के बाद उसे मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल लाया गया। इसके बाद उसकी तबीयत बिगड़ने लगी। जेल अस्पताल के डॉक्टरों ने जांच के सदर अस्पताल भेजा। वहां से उसे SKMCH रेफर कर दिया गया, लेकिन उसकी स्थिति में सुधार नहीं होता देख PMCH भेजा गया। जहां इलाज के क्रम में शुक्रवार देर रात उसकी मौत हो गई। जेल अधीक्षक में बताया कि पोस्टमाॅर्टम और न्यायिक प्रक्रिया पूरी कर शव को परिजन के हवाले कर दिया जाएगा।